Nari shiksha Par Nibandh {2022}

Nari shiksha par nibandh – नमस्ते दोस्तों स्वागत है मेरे ब्लॉग पर आप सभी विवर का, आज के मेरे ब्लॉग का पोस्ट का विषय है, नारी शिक्षा पर निबंध, जी हां एक ऐसा ज्वलंत विषय जिसके ऊपर हमें खुलकर अपनी राय रखनी चाहिए, समाज में शिक्षा का बहुत ही अहम रोल होता है शिक्षा जितना ज्यादा पुरुष के लिए जरूरी होता है उतना ही ज्यादा महिलाओं के लिए भी जरूरी होता है.

भारत का इतिहास अगर देखा जाए तो भारत शिक्षा और शिक्षित लोगों की भूमि की, तक्षशिला, नालंदा जैसे अनेक विश्वविद्यालय हमारे यहां उस समय थे जब पूरी दुनिया एक शब्द समाज में जीवन कैसे जीते हैं उसके बारे में जानने का प्रयास कर रही थी.

भविष्य में घटित होती घटनाओं के कारण, गुलामी के दौर बढ़ने के कारण भारत में शिक्षा और शिक्षित लोगों का असर धीरे-धीरे गिरता चला गया, फिर पुरुष समाज, पुरुष प्रधान समाज जैसे विचारों का सामने आना, हमने देखा, पुरुष प्रधान समाज होने के कारण भारत में शिक्षा और शिक्षित महिलाओं की संख्या धीरे-धीरे कम होती चली गई.

आज के मेरे पोस्ट का विषय इसीलिए नारी शिक्षा का महत्व के ऊपर है आशा करते हैं कि आपके पोस्ट को पूरा पढ़ें ंगे और पूरी विस्तार से जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करेंगे और अपना राय भी आप कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं कि महिलाओं को शिक्षित होने पर आपका क्या विचार है.

Nari shiksha Par Nibandh

Nari shiksha par nibandh
Nari shiksha par nibandh

अनेक ऐसे विद्वानों का मानना है किसी भी राष्ट्रीय देश का उत्थान तभी हो सकता है जब वहां पर शिक्षित लोगों की संख्या अधिक हो, शिक्षित लोगों में भी महिलाओं की संख्या अधिक हो, अगर किसी राष्ट्र की महिलाएं शिक्षा से वंचित हैं तो उस राष्ट्र का विकास नहीं हो सकता है जिस तरह से उसका विकास होना चाहिए.

दोस्तों जहां तक मुझे लगता है किसी भी समाज के लिए पुरुष और महिला दोनों को होना बहुत ही ज्यादा आवश्यक हैं यूं कहें कि समाज के लिए पुरुष और महिला एक वाहन हैं जिनका शिक्षा उस वाहन का पहिया है, अगर किसी भी पहिया समय के साथ आगे नहीं बढ़ सकता तो क्या आपको लगता है कि वह वाहन आगे बढ़ सकता है आगे जा सकता है मुझे तो ऐसा नहीं लगता कि किसी भी वाहन का दोनों पहियों का चलना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है बिना इसके संभव नहीं है उस वाहन का आगे बढ़ना ठीक उसी तरह से समाज में जितना ज्यादा पुरुष शिक्षित हो उतना ही ज्यादा महिलाओं की भी शिक्षित होने से उस समाज का ही विकास होगा समाज के विकास होने से उस राष्ट्र का विकास होगा.

नारी जो कि एक मां का रूप होती हैं, हम सभी जानते हैं किसी भी छोटे बच्चे का पहला Teacher उसकी मां ही होती है, यदि मां शिक्षित है तो बच्चे को भी शिक्षित होने के लिए वह प्रोत्साहित करेगी या उसे शिक्षा का महत्व बताएगी.

जितना अधिक समाज में नारी शिक्षित होंगी इतना ज्यादा और उतनी ही तेज समाज रूढ़िवादी विचारों से आगे बढ़ेगा रूढ़िवादी विचारों से जितना अधिक समाज आगे बढ़ेगा उतना ही ज्यादा उस राष्ट्र का उत्थान विकास होना संभव है इसलिए नारी को शिक्षित होना बहुत ही अधिक जरूरी है.

किसी भी समाज में यदि नारी शिक्षित है तो वह समझ सकती है कि क्या उसके हित में है और क्या उसके लिए भला नहीं है, वह अपने ऊपर होने वाले अत्याचारों का सामना कर सकती हैं, समाज के उत्थान के लिए महिलाओं का शिक्षित होना बहुत ही ज्यादा जरूरी है.

नारी शिक्षा पर निबंध (Nari shiksha Par Nibandh)

1किसी भी समाज के उत्थान के लिए नारी का शिक्षित होना बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता है
2बिना नारी के शिक्षा का इस समाज को रूढ़िवादी विचारों से मुक्त नहीं किया जा सकता.
3मां का रूप, नारी का होता है, एक नारी अपने बच्चे के लिए पहले शिक्षक के तौर पर काम करती है इसलिए नारी का शिक्षित होना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है.
4एक नारी शिक्षित होकर आज के समय में एक कुशल डॉक्टर, कुशल विज्ञानिक, कुशल शिक्षक, और भी समाज के अनेक ऐसे महत्वपूर्ण पदों पर अपना योगदान दे रही हैं पुरुषों के साथ इस समाज के विकास की भागीदार बन रही है.
Nari shiksha Par Nibandh

वर्तमान समय में हमारा संविधान पुरुष और महिला दोनों को उचित शिक्षा पाने का हक देता है, वर्तमान की नारियां समाज के हर महत्वपूर्ण पदों पर अपनी योग्यता और अपने शिक्षा के आधार पर मनोनीत होकर इस समाज को आगे बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रही हैं.

महारानी लक्ष्मी बाई, सरोजनी नायडू, सुषमा स्वराज, इंदिरा गांधी ,किरण बेदी जैसे अनेक महान महिलाएं इस समाज में अपना वर्चस्व को स्थापित किया, आज के समय में महिलाएं इंजीनियर डॉक्टर सेना पुलिस और भी समाज के अनेक ऐसे महत्वपूर्ण पदों पर कार्य करते हुए समाज के उत्थान के लिए कंधे से कंधा मिलाकर पुरुषों के साथ खड़ी है. यह सब समाज में महिलाओं की शिक्षित होने का ही असर है इसलिए इस समाज को महिलाओं की शिक्षा का विशेष ध्यान रखना चाहिए.

Marathi Blog Visit here

सरकार द्वारा उठाए जा रहे अनेकता से कदम जिनसे महिलाओं को शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार मिल रहा है सरकार द्वारा चलाए जा रहे कस्तूरबा गांधी विद्यालय गरीब वंचित महिलाओं को शिक्षा देने का कार्य कर रही है, सरकार द्वारा चलाए जा रहे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना महिलाओं को मुफ्त शिक्षा देने का कार्य कर रही हैं.

Best Slogans on Women Education in Hindi

नारी शिक्षा पर नारे – अनेक ऐसे नारे दिए गए हैं जो कि नारी की शिक्षा के ऊपर हैं, उनमें से कुछ ना रोको हम अपने इस ब्लॉग में आपके लिए मेंशन कर रहे हैं.

आज देश की यही पुकार
पढ़ लिख नारी हो होशियार।


नारी जाति है सबसे महान।
नारी शिक्षा में सब दें योगदान।


हम सब ने यह ठाना है।
नारी को शिक्षित बनाना है।


अगर समाज को शिक्षित पाना है
तो नारी शिक्षा को अपनाना है।


अपने बच्चों को जो दे शिक्षा का वरदान
इसलिए नारी कहलाती है भगवान।



नारी जीवन है नारी जीवन का है आधार
नारी से ही बनता परिवार। 
Nari shiksha par nibandh (नारी शिक्षा पर निबंध )

आज की शिक्षित नारी अपने पैरों पर खड़ी है, जीवन के हर क्षेत्र में नारी का आज के समय अहम योगदान है, समाज के विकास के साथ-साथ परिवार का विकास बच्चों की अच्छा देखभाल इस तरह के अनेक कार्य को नारी अद्भुत तरीके से निर्वाह कर रही हैं, इसलिए नारी का शिक्षा के साथ ही समाज और इस जीवन के हर क्षेत्र में नारी का अहम योगदान है.

आखिरी को शब्द इस पोस्ट के विषय में

आज के अपने इस पोस्ट में हमने नारी शिक्षा के महत्व के ऊपर एक निबंध {नारी शिक्षा पर निबंध (Nari shiksha Par Nibandh)}, के बारे में बताया एक समाज के विकास के लिए नारी का शिक्षित होने का महत्व कितना अधिक है इसका अंदाजा आप आज के समय में नारियों का डॉक्टर इंजीनियर साइंटिस्ट ट्रेन ड्राइवर सेना पुलिस हर जगह योगदान दे करके आप अंदाजा लगा सकते हैं

आशा करते हैं यह पोस्ट आपकी जरूरत के अनुसार आपकी शिक्षा को बढ़ाने के लिए मदद करेगा. पोस्ट पसंद आने पर शेयर जरूर करें और मेरे ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें.

इस पोस्ट पर अपनी राय कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताएं यह पोस्ट आपको कैसा लगा नारी शिक्षा का महत्व के ऊपर मेरा यह निबंध आपको कैसा लगा इसके बारे में आप अपना राय कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं. साथियों शायद आप अपने विचार भी सजा कर सकते हैं कि आप नारी शिक्षा पर क्या सोचते हैं.

Read More on oyesonam

Leave a Comment