Avani Lakhera Biography In Hindi।shooter girl avani lakhera biography In hindi and Family, age, networth.

Avani Lakhera Biography In Hindi-राजस्थान के जयपुर में रहने वाली अवनि लखेरा जिन्होंने ने पैरालिम्पिक गेम्स में गोल्ड मैडल जीत कर पूरे भारत देश में अपने नाम का डंका बजाया । 19 वर्षीय अवनि लखेरा जिन्होंने क्वालिफिकेशन राउंड में 7वा स्थान पाकर फाइनल राउंड में अपनी जगह बनाई । अवनि लखेरा जिन्होंने 10meter एयर राइफल की क्लास SH1 में स्वर्ण पदक जीत कर अपने नाम किया । आज के समय में अवनी लाखेरा वन विभाग में बतौर एसीएफ कार्यरत हैं।

अवनि लखेरा का जीवन परिचय एक नजर में (Avani Lakhera Biography in Hindi)

Avani Lakhera Biography In Hindi
Avani Lakhera Biography In Hindi / Avani lakhera age
नामअवनि लखेरा
जन्म8 नवंबर 2001
जन्म स्थानजयपुर
Avani lakhera age उम्र (2021)19 Year
लम्बाई (हाइट)5.2 फीट
वजन55 kg
पिता का नामप्रवीण लखेरा
माता का नामश्वेता लखेरा
कोचचन्दन सिंह
Avani Lakhera Biography in Hindi

अवनि लखेरा/Avani Lakhera का जन्म एवं परिवार / Family & Avani Lakhera Biography In Hindi

अवनि लखेरा / Avani Lakhera का जन्म 8 नवंबर 2001 को जयपुर में हुआ। अवनि के पिता का नाम प्रवीण लखेरा और माता का नाम प्रवीण लखेरा है।

राजस्थानी छोरी अवनि लखेरा कैसे बनी शूटर गर्ल ? Avani Lakhera Biography In Hindi

शूटर गर्ल अवनि लखेरा जिनका जन्म 8 नवंबर 2001 को राजस्थान के जयपुर में हुआ । उनके पिता का प्रवीण लखेरा और माँ का नाम श्वेता लखेरा है । वर्ष 2012 में जयपुर से धौलपुर अपने पिता के साथ जाते समय एक सड़क दुर्घटना में वह घायल हो गयी थी । सड़क दुर्घटना होने के कारण अवनि के रीड की हड्डी में चोट लगी जिसकी वजह से अवनि को चलने फिरने में काफी परेशानिया होती थी । इतनी परेशानियों के बाद भी अवनि ने हार नहीं मानी और आज पैरालिम्पिक गेम में स्वर्ण पदक जीत कर अवनि ने अपना और भारत देश का नाम पूरी दुनिया में रौशन किया है ।

व्हीलचेयर से पैरालिम्पिक गेम तक Avani Lakhera Biography In Hindi

सड़क दुर्घटना होने के बाद अवनि काफी डिप्रेस रहने लगी थी । अवनि को डिप्रेस्सेड देख कर उनके पिता प्रवीण लखेरा ने अवनि को डिप्रेस से बहार निकलने के लिए अभिनव बिंद्रा की बायोग्राफी लाके दी । अभिनव बिंद्रा की बायोग्राफी पढ़ कर अवनि काफी प्रेरित हुई जिससे अवनि की दिलचस्वी निशानेबाजी में बढ़ने लगी और अवनि ने इसे अपना लक्ष्य बनाया। अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए हर रोज अवनि निशानेबाजी का अभ्यास करने लगी । अवनि के कोच चंन्दन सिंह ने हमेशा उनका मनोबल बढ़ाया । अपने कोच के सपोर्ट से ही व्हीलचेयर गर्ल भारत की पहली महिला निशानेबाज गोल्ड मेडलिस्ट बनी ।

अभिनव बिंद्रा की बायोग्राफी से मिली प्रेरणा

सड़क हादसे के बाद Avani Lakhera बेहत ही निराश और उदास रहती थी । उस समय उनके पिता (प्रवीण लखेरा ) ने उन्हें अभिनव बिन्द्रा की बायोग्राफी लाकर अवनि को दिया था । इस बायोग्राफी से वह इतनी प्रेरित हुई कि निशानेबाजी को ही उन्होंने अपनी जिंदगी का लक्ष्य चुन लिया। आज पुरे देश का नाम रोशन किया Gold-Medal जीत कर ।

अवनि लखेरा के कोच Avani Lakhera Coach

अवनि लखेरा ने आज जो भी मुकाम हासिल कर लिया है, उसका श्रेय ख़ास तौर पर उनके कोच जिनका नाम चन्दन सिंह को जाता है । अवनि लखेरा के कोच चन्दन सिंह ही वो इंसान हैं जिन्होंने अवनि के सड़क हादसे के बाद व्हीलचेयर पर आ जाने से निराश होने पर समय समय पर अवनि को प्रोत्साहित किया और जिस कारण अवनि को अपना पूरा ध्यान शूटिंग में रखने में बहुत मदद हुआ ।

अवनि लखेरा /Avani Lakhera टोक्यो पैरालंपिक 2020 सफलता

अवनि लखेरा ने टोक्यो पैरालंपिक में महिलाओं की 10 mtr एयर राइफल में 249.6 पॉइंट स्कोर करके भारत के लिए गोल्ड मैडल जीत लिया है। इससे पहले अवनि ने क्वॉलिफिकेशन मुकबला / राउंड में 7वें स्थान पर रहकर फाइनल में जगह बनाई थी। Avani Lakhera पैरालंपिक में मैडल जीतने वाली तीसरी शूटर भी हैं।

Read More On Oyesonam

Neeraj Chopra Biography In Hindi ।नीज चोपड़ा का जीवन परिचय

Sunil Chhetri Biography In Hindi। सुनील छेत्री जीवनी – Oye Sonam

Ravindra Jadeja Biography In Hindi | रवींद्र जडेजा जीवन परिचय

Sumit Antil Biography In Hindi

Leave a comment